Sunday, September 5, 2010

.... * सुस्वागतम *.... डॉ नूतन गैरोला

by nutan on Sunday, May 16, 2010 at 11:17am



....... * सुस्वागतम *.......

पदार्पण मेरा प्रथम ,

शुभ हो मंगल उमंग |
ज्यू वारी बरसी मेघ बन
खिल उठे फूल रंग बिरंग ||


ॐ से हो साक्षात्कार ,
सत्य से जुड़ा रहे नाता अपार
लिखने की चेष्टा करती हूँ  , 
साथ रहे सरस्वती का वास हो ||

न चाहत है मन में
किसी यश की,
न ही चाहत किसी के संग की
बस तू देता रहे छाया प्रभू ,
अपने कल्याणकारी छत्र की ||

मंगल हो सुमंगल हो ,
सृष्टि का सृजन हो |
ले हाथ में छेनी तू
हर विनाश का विकल्प हो
माया ठगनी के कुरूप भंवर का
सुन्दर शिल्प में विलय हो
मोक्ष का उदय हो ||


प्रभु   खुशियों से भरा
आसमां भूमि और जल हो
प्राणी और सांसारिक
हर में जीवन हो जीवंत हो

पदार्पण मेरा प्रथम,
शुभ हो, मंगल हो, उमंग हो ||

डॉ नूतन गैरोला -- 04 =09=2010.

63 comments:



  1. आदरणीया डॉ. नूतन अमृता जी

    सस्नेहाभिवादन !
    सुस्वागतम् !

    ॐ से हो साक्षात्कार !
    सत्य से जुड़ा रहे नाता !
    साथ रहे सरस्वती का !
    मोक्ष का उदय हो !
    प्रभो , खुशियों से भरा आसमां भूमि और जल हो !
    प्राणी और सांसारिक हर में जीवन हो ! जीवंत हो !!


    सुंदरतम भाव लिये हुए अति सुंदर कविता के लिए आभार और बधाई स्वीकार करें ।
    आपके लिखे को निरंतर पढ़ने की इच्छा रहेगी ।

    शस्वरं पर पधारने हेतु आभार !
    मेरा परम सौभाग्य है कि आपने ब्लॉगिंग के अपने प्रथम दिन ही मुझे अपने स्नेह - सहयोग से धन्य किया ।
    कृपया , स्नेह - सहयोग - संपर्क सदैव स्थापित रहे …

    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  2. राजेंद्र जी !!! आपका शुक्रिया ! आपके ब्लॉग शस्वरं द्वारा हमें भी अच्छी अच्छी रचनाये पढने को मिलेंगी.. और ब्लॉग पर कार्य नहीं आता है अतः आपके द्वारा मार्ग दर्शन की भी अपेक्षा रखती हूँ... आपका पुनः धन्यवाद .. आपने मेरे ब्लॉग पर अपनी दस्तक दे कर मेरा हौन्श्ला बढाया है | आगे भी उम्मीद है भविष्य में अपने लेखन और टिप्पणियो से मेरे लेख में सुधार आये तो में गौरान्वित महसूस करुँगी

    ReplyDelete
  3. Welcome! Nutan ji..:)) An eye catching blog! Poems too are good! congratulations !

    ReplyDelete
  4. Thank you Aparna ji.. It's my pleasur to find you here.. Regard..

    ReplyDelete
  5. भावों से सराबोर बहुत सुन्दर कविता| ब्लॉगिंग की दुनिया में आपका स्वागत है|

    ब्रह्मांड

    ReplyDelete
  6. डॉ. नूतन,
    ये पावनकारी "अमृतरस" पाने से हम तो धन्य हो गए.... बहुत ही बधाई | स्वरचित कविता में एकाक्षरी मंत्र "ॐ" के ही आशीर्वाद मिले फिर क्या चाहिए? फिर एक बार ये "अमृतरस" हमेशा सब को पिलाती रहो... और नें जीवन का मार्ग प्रशस्त हो....

    ReplyDelete
  7. नास्तिक को भी प्रार्थना अच्छी लगी। भाव सुन्दर हैं।
    आप इस ब्लॉग को सम्भवत: रुचिकर पाएँ - http://naagaree.blogspot.com

    ReplyDelete
  8. बहुत अच्चा लिखा है आप ने धन्यवाद|

    ReplyDelete
  9. ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

    किसी भी तरह की तकनीकिक जानकारी के लिये अंतरजाल ब्‍लाग के स्‍वामी अंकुर जी,
    हिन्‍दी टेक ब्‍लाग के मालिक नवीन जी और ई गुरू राजीव जी से संपर्क करें ।

    ब्‍लाग जगत पर संस्‍कृत की कक्ष्‍या चल रही है ।

    आप भी सादर आमंत्रित हैं,
    http://sanskrit-jeevan.blogspot.com/ पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने
    सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो हमारे फालोअर बनकर संस्‍कृत के
    प्रसार में अपना योगदान दें ।
    यदि आप संस्‍कृत में लिख सकते हैं तो आपको इस ब्‍लाग पर लेखन के लिये आमन्त्रित किया जा रहा है ।

    हमें ईमेल से संपर्क करें pandey.aaanand@gmail.com पर अपना नाम व पूरा परिचय)

    धन्‍यवाद

    ReplyDelete
  10. हिन्दी ब्लाँग जगत में आपका स्वागत है। बहुत ही सुन्दर ।
    कृपया अन्य ब्लाँगों को भी पढे और अपनी बहुमूल्य टिप्पणी देने का कष्ट करें।

    http://www.brainburden.blogspot.com/

    ReplyDelete
  11. "मंगल हो सुमंगल हो,
    सृष्टि का सृजन हो |
    ले हाथ में छेनी तू
    हर विनाश का विकल्प हो
    माया ठगनी के कुरूप भंवर का
    सुन्दर शिल्प में विलय हो
    मोक्ष का उदय हो"

    सुविचार - शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  12. सुंदर रचना

    ReplyDelete
  13. पंकज जी आपके मार्ग दर्शन और सहयोग के अपेक्षा करती हूँ | आपका आभार ..

    ReplyDelete
  14. गिरिजेश जी बहुत बहुत शुक्रिया आपका...जी जरूर आपके ब्लॉग पर जा कर आपके लेखन का अनद जरूर लुंगी.. धन्यवाद..आप भी हमें इसी तरह से प्रोत्साहित करते रहे..

    ReplyDelete
  15. पाटिल जी मैंने आपकी कहानी भेड़ की खाल में ..पढ़ी अच्छी लगी.. आपका स्वागत है मेरे पृष्ठ में भी .. अपना साथ दें आप भी ..

    ReplyDelete
  16. भावपूर्ण अभिव्यक्ति..स्वागत है.

    ReplyDelete
  17. हमारे एगरीगेटर पर आपका ब्लाग जोड़ने के लिए धन्यवाद
    आपके ब्लाग को सफलता पूर्वक जोड़ दिया गया है। अब आप इस एगरीकेटर के लोगों को अपने ब्लाग पर लगा सकते है। जिसे आपकी पोस्ट तुरंत छप सके और आप ज्यादा से ज्यादा लोगों के ब्लाग पर टिप्पणियां देने की
    कृपा करे।
    लोगो लगाने के लिए लिंक निचे दिया जा रहा है। उस पर क्लिक करके आप तुरन्त लोगों लगा सकते है।

    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    मालीगांव
    साया
    लक्ष्य

    हमारे नये एगरीकेटर में आप अपने ब्लाग् को नीचे के लिंको द्वारा जोड़ सकते है।
    अपने ब्लाग् पर लोगों लगाये यहां से
    अपने ब्लाग् को जोड़े यहां से

    ReplyDelete
  18. हिन्दी ब्लाँग जगत में आपका स्वागत है। बहुत ही सुन्दर ।

    ReplyDelete
  19. नूतन जी,

    आपका आगाज़ बहुत अच्छा है ......एक भावपूर्ण अभिव्यक्ति से शुरुआत बहुत अच्छी लगी | आशा है आप ऐसे ही भविष्य में अच्छी रचनाये प्रस्तुत करेंगी.......शुभकामनाये

    कभी फुर्सत मिले तो हमारे ब्लॉग पर आयिए-

    http://jazbaattheemotions.blogspot.com/
    http://mirzagalibatribute.blogspot.com/
    http://khaleelzibran.blogspot.com/
    http://qalamkasipahi.blogspot.com/

    ReplyDelete
  20. क्या आप हिंदी ब्लॉग संकलक हमारीवाणी के सदस्य हैं?

    हमारीवाणी पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि

    ReplyDelete
  21. हे नव नूतन.....शुभ आगमन....स्वागतम.... हृदयंगम....पुलकित नेह भरा अभिनन्दन....!!!

    ReplyDelete
  22. आनंद पाण्डेय जी !!! आपका आभार.. आप यह भी बताएं की अंतर जाल ब्लॉग , ई गुरु, टेक ब्लॉग, किस वेब लिंक में मिलेंगे..मैंने आपका ब्लॉग पढ़ा बहुत सुन्दर है..बधाई.. अभी पहला दिन है अतः.. धीरे धीरे सब समझ आने लगेगा ..

    ReplyDelete
  23. अलबेला खत्री जी आपने मेरे इस पृष्ठ पर आ कर इसकी शोभा बधाई है ... आपका आभार .. और आप समय समय पर मेरे ब्लॉग पर आ कर अपने विचार देंगे . मनोत्साह बढ़ाएंगे और कमजोरियों को भी बताएँगे.. धन्यवाद

    ReplyDelete
  24. अंकुर जी आपका तहे दिल शुक्रिया.. जी जरूर .. aapke पन्नो पर ज़रूर जाउंगी ..शुभदिवस

    ReplyDelete
  25. Padarpan aapka ,swagatam

    ReplyDelete
  26. नूतन जी आपका स्वागत है। आशा है आपके भावो और शब्दो के इस अमृ्त रस से हमे समय समय पर रस मिलता रहेगा।
    आपकी पहली कृ्ति के काफी पाठको ने आपकी सराहना की है(वैसे आप अच्छा लिखती है जितना भी पढने को मिला फेसबुक पर) और ये ही वे शब्द है जो आपको प्रोत्साहित करेगे और बेहतर रचनाओ के लिये।
    शुभकामनाये!
    प्रतिबिम्ब
    www.merachintan.blogspot.com

    ReplyDelete
  27. khoosoorat rachana ke liye badhai aur blog jagat me aapka swagat
    ek achchi prarthna ke saath kiya hua koi kam nisfal nahin jaata

    ReplyDelete
  28. राकेश कौशिक!! जी धन्यवाद .. शुभकामनाये..

    ReplyDelete
  29. पूजा जी धन्यवाद !! आपका आभार .

    ReplyDelete
  30. उड़न तस्तरी जी धन्यवाद !! आपका आभार .आपका भी मेरे पेज पर स्वागत है |

    ReplyDelete
  31. सुरेंदर जी !!! आपका शुक्रिया..आपने बहुत अच्छे लिंक प्रदान किये .. आपके ब्लॉग से हमें भी सीखने पढने को मिलेगा.. अग्रीगेटर लगा दिया है.. अभी में सुरु आत कर रही हूँ ..समय के साथ साथ में आपके ब्लॉग को फोलो करती रहूंगी ..

    ReplyDelete
  32. आशुतोष जी आपका शुक्रिया...खबरों की दुनिया ब्लॉग को मैंने देखा.. ज्ञान वर्धक.. यहाँ आ कर हमारा उत्साह बढाए |

    ReplyDelete
  33. वंदना जी ..धन्यवाद..आप ही मेरे ब्लॉग के स्तम्भ हो जिन्होंने आ कर अपनी अमूल्य टिपण्णी दी और मेरा अनुसरण कर के मुझ को एक ताकत दी ... आपका आभार

    ReplyDelete
  34. इमरान अंसारी जी.. आपका शुक्रिया .. मेरे इस आगाज में आपका साथ देना मेरे लिए बहुत मायने रखता है....इस हौन्श्ला अफ़जाई का तहे दिल शुक्रिया.. आपकी रचनाये उम्दा है.. मै ब्लॉग में गयी थी और टिप्पणिया भी की है..

    ReplyDelete
  35. हमारी वाणी .. जी हां मैंने आपके साईट को फोलो किया है..और सदस्य बनी हूँ.क्या आपकी साईट ब्लॉग वाणी से जुडी है ?..आपका शुक्रिया

    ReplyDelete
  36. भूत नाथ जी..शुक्रिया ..आपका ..आपका भी स्वागत है..

    ReplyDelete
  37. हिंदी ब्लॉग जगत में आपका स्वागत है ...आपके द्वारा रची प्रार्थना मन की गहराई तक गयी ..

    मेरे ब्लॉग पर आने के लिए आभार ..मेरा यह ब्लॉग भी देखें ..

    http://geet7553.blogspot.com/

    एक सलाह ---
    कृपया कमेंट्स की सेटिंग से वर्ड वेरी फिकेशन हटा दें ..इससे टिप्पणी करने वालों को आसानी होगी ...यदि इसे हटाने में कोई परेशानी हो
    तो मुझे मेल करें ..
    sangeetaswarup@gmail.com

    ReplyDelete
  38. संगीता जी आपका..आभार.. आप की टिपण्णी और विचारो से ही मैं अपने ब्लॉग को सही तरीके से प्रस्तुत कर पाऊँगी... आपने और पहले भी एक मित्र ने यहाँ यही सुझाव दिया .. मै प्रयास करती हूँ , ये वर्ड वेरिफिकेसन हटाने का .. abhi mere liye andhere mei teer chodne jaisa hai ..

    ReplyDelete
  39. जयंती जैन जी..उठो जागो से .. आपका धन्यवाद ..और स्वागत

    ReplyDelete
  40. प्रतिबिम्ब जी..आपकी शुभकामनाये और साथ हमेशा रहे.. और मार्गदर्शन.. आपका शुक्रिया

    ReplyDelete
  41. तेज पाल जी..आपका शुक्रिया.. आपने सही कहा है ..प्रभू जरूर पुकार सुनता है.. और मेरा कामना है की हमारा समाज सुरक्षित और खुशहाल हो..

    ReplyDelete
  42. ब्लॉग जगत में आपका हार्दिक अभिनन्दन है. लाजवाब प्रस्तुति, स्वागत का अच्छा अंदाज़ है

    ReplyDelete
  43. नूतन, सुन्दर पंक्तियाँ बन पडी हैं। यह रचना गहराई लिये है।

    ReplyDelete
  44. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

    ReplyDelete
  45. ajay ji dhanyvaad... aur aapka bhi swagat... mujhey bhi blog me sundar sundar rachnaao ko padhne kaa mauka mil raha hai.. abhaar

    ReplyDelete
  46. हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  47. पदार्पण मेरा प्रथम,
    शुभ हो, मंगल हो, उमंग हो ||
    --
    बहुत सुन्दर भावों के साथ लाजवाब प्रस्तुति!

    ReplyDelete
  48. कृष्ण भास्कर जी धन्यवाद

    ReplyDelete
  49. संगीता जी धन्यवाद ..

    ReplyDelete
  50. Beautiful post on Children's day. Enjoyed read your childhood experiences. Thanks

    ReplyDelete
  51. अतुलनीय समर्पण जगदीश्वर के प्रति:-

    न चाहत है मन में
    किसी यश की,
    न ही चाहत किसी के संग की
    बस तू देता रहे छाया प्रभू ,
    अपने कल्याणकारी छत्र की ||

    बधाई नूतन जी|

    ReplyDelete

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails